मेरा नाम रश्मि केशब मूलचंदानी। मैं यहाँ इलाज के लिया आई हूँ। मैं मूल रूप से घाना में रहती हूँ ,जो की साउथ अफ्रीका में है। मुझे इस जगह के बारे में ऑनलाइन से पता चला। मैं यहाँ पे हर साल अति हूँ बुहत सारि इलाज के लिए। मैं एक कैंसर पेशेंट हूँ। उसके बाद मुझे एवास्क्यूलर नेक्रोसिस की समस्या हुई और मुझे एक सर्जरी के लिए कहा गया। जो की मेरे पति बिलकुल भी करवाना नहीं चाहते थे। वह सर्जरी के बिना चलना चाहते थे तो हमलोग इसलिए आयुर्वेद के बारे में सोच रहे थे। हमे इस संस्था के बारे में पता चला प्रधान रूप से यहाँ की सेबा और इलाज। मेरा इलाज डॉक्टर राजीव ने किया है। मुझे लगता है वह एक उच्चे दर्जे के डॉक्टर है। उन्होंने बुहत अच्छी तरहय से काम किया है। अभी मेरी जो हालत है वह स्थिर है पहले से ख़राब नहीं हुई है और सब से अच्छी बात है के सर्जरी के बिना और मुझे बुहत अच्छा परिनाम मिला है। उसके बाद हम दुबारा यहाँ आये और दो हफ्तों के लिए। हमने पाया के मेरे स्वस्थ में बुहत उन्नति हुई है। मूल रूप से यहाँ मुझे अच्छे सवस्था के साथ बुहत ही जियादा देखभाल मिल रही थी। और मैंने देखा सरे कर्मचारी ,मॅनॅग्मेंट सब बुहत ही सहयोगी और अच्छे है। हम यहाँ रहने का आनंद लेते है। हाला की ये एक इलाज है पर कभी लगा नहीं के हॉस्पिटल है। धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *